Health

के.डी. हॉस्पिटल में महिला के सिकुड़े फेफड़े की सफल सर्जरीसीटीवीएस सर्जन डॉ. सैफ

अलीम और उनकी टीम ने दिया रेशमा को नवजीवन

मथुरा। के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के विशेषज्ञ सीटीवीएस सर्जन डॉ. सैफ अलीम और उनकी टीम के प्रयासों से नई बस्ती मथुरा निवासी रेशमा (32) पत्नी चांद को नई जिन्दगी मिली है। के.डी. हॉस्पिटल के शल्य चिकित्सकों ने लगभग चार घंटे की मशक्कत के बाद रेशमा के सिकुड़े बाएं फेफड़े को रिपेयर करने में सफलता हासिल की। अब रेशमा पूरी तरह से स्वस्थ है तथा उसे सांस लेने में भी कोई परेशानी नहीं हो रही है।
चिकित्सकों से मिली जानकारी के अनुसार नई बस्ती मथुरा निवासी रेशमा पत्नी चांद को 12 अप्रैल को गम्भीर अवस्था में के.डी. हॉस्पिटल लाया गया। क्षय रोग से पीड़ित रेशमा को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। डॉ. सैफ अलीम ने कुछ जांचें कराईं जिनसे पता चला कि वह क्षय रोग से पीड़ित है तथा उसके दाएं फेफड़े की तरफ ट्यूब डली है जिसके आसपास काफी पस जमा है। जांच से पता चला कि उसका बायां फेफड़ा सिकुड़ा हुआ है तथा उसके ऊपर मोटी सी झिल्ली ने जगह बना ली है, जिसके चलते मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो रही है।
मरीज की गम्भीर स्थिति को देखते हुए डॉ. सैफ अलीम ने परिजनों को सर्जरी की सलाह दी। परिजनों की स्वीकृति के बाद डॉ. सैफ अलीम और उनकी टीम के सहयोगियों डॉ. अंकित, डॉ. वेंकट, डॉ. कार्तिकेय, निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. सुप्रिया, डॉ. उमेद, डॉ. जगत तथा टेक्नीशियन एस. खान, योगेश, गौरव आदि के सहयोग से रेशमा की सर्जरी की गई। लगभग चार घंटे के प्रयासों के बाद चिकित्सकों की टीम द्वारा रेशमा का सिकुड़ा फेफड़ा रिपेयर किया गया। इतना ही नहीं फेफड़े के ऊपर से झिल्ली हटाते हुए आसपास जमा पस की सफाई की गई।
डॉ. सैफ अलीम ने बताया कि इस सर्जरी को डीकोटिकेशन विथ लंग्स रिपेयर कहते हैं। यह आपरेशन सिकुड़े फेफड़े के आरम्भिक दिनों में बहुत ही सफल व कारगर साबित होता है क्योंकि आरम्भिक अवस्था में सिकुड़ा फेफड़ा दबाव में तो होता है, पर ज्यादा क्षतिग्रस्त नहीं होता। उन्होंने बताया कि बीमारी का समय पर पता न चलने पर समस्या गम्भीर होती जाती है। रेशमा के पति चांद ने सफल और बहुत कम पैसे में हुई सर्जरी के लिए के.डी. हॉस्पिटल प्रबंधन तथा चिकित्सकों का आभार माना है।
आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल, डीन और प्राचार्य डॉ. आर.के. अशोका, उप प्राचार्य डॉ. राजेन्द्र कुमार ने सफल सर्जरी के लिए चिकित्सकों की टीम को बधाई देते हुए मरीज के स्वस्थ जीवन की कामना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *